• micro-blog
  • WechatWechat QR code

गुआनडोंग प्रांतिय लोक्स सरकार का होम पृष्ठ  >  News trends  >  Guangdong highlights

एनबीए खाता खोलना

स्रोत: Nanfang Daily Online Edition     time: 2021-10-20 02:28:57

क्रिकेट ओडीआई रैंकिंग एनबीए खाता खोलना betway इंडिया विदड्रॉल,fun88 ब्रिटेन,lovebet 50/1,lovebet आईओएस ऐप,lovebet टिकट टेलीग्राम,वॉशिंग मशीन में 3 स्लॉट,बैकरेट बैंकर और खिलाड़ी,बैकारेट प्ले तकनीक फॉर्मूला,गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विज्ञान के लिए सर्वश्रेष्ठ पांच एमसीक्यू,एक लवबेट वाउचर ऑनलाइन खरीदें,कैसीनो मोंटे कार्लो,शतरंज मैं फोन,क्रिकेट की किताबों का नाम,क्रिकेटर दा सिल्वा,यूरोपीय कप फाइनल मकाऊ ओपन,फुटबॉल सट्टेबाजी जीत,गा स्लॉट,खुशहाल किसान माध्यम,इमर्सिव रूले लाइव यूट्यूब,जैकपॉट मोमबत्तियां,lakers,लाइव फुटबॉल आधिकारिक वेबसाइट,लॉटरी अर्थ,एम पोकर डाउनलोड,ऑनलाइन कैसीनो क्लब,ऑनलाइन गेम वीडियो कॉल,ऑनलाइन स्लॉट ऑड्स,पोकर 4 शर्त,पोकर यार ऐप डाउनलोड,रूले क्वेस्ट dq11,रम्मी गेम पेटीएम कैश,एस क्रिकेट लाइव टीवी,स्लॉट का हिंदी अर्थ,खेल से संबंधित करियर,तीन पत्ती राजा APK,बैकारेट संभाव्यता में कमियां,वर्चुअल क्रिकेट लीग t10,वाइल्डज़ वाई लैंग डाउर्ट औज़हलुंग,p स्टेटस,करीना हाउस,क्षत्रिय स्टेटस इन हिंदी,जैकपॉट इन हिंदी,पोकर इंडिया,बरसात है,रानी स्कारब ™,स्टेटस बनाने वाला ऐप, ,कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

  


  

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

  कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में न्‍यूनतम मजदूरी में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है.
मुंबई : पिछले कुछ महीनों में कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में काम करने वाले वर्कर्स की न्‍यूनतम दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी है. ये रियल एस्‍टेट, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, सीमेंट, स्‍टील, सड़क एवं हाईवे और शहरी विकास परियोजनाओं में काम करते हैं. मजदूरी में बढ़ोतरी की वजह लेबरों की कमी है. कंपनियों ने अपने पुराने प्रोजेक्‍टों को पूरा करने के लिए काम की रफ्तार बढ़ाई है.

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में न्‍यूनतम मजदूरी में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है. इस सेक्‍टर में करीब 5 करोड़ लोग काम करते हैं. मानव संसाधन प्रबंधन फर्म बेटरप्‍लेस के अनुमान के अनुसार, महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

इसे भी पढ़ें : कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

मजदूरों को सबसे ज्‍यादा रोजगार कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में मिलता है. यह सेक्‍टर काफी कुछ असंगठित है. ज्‍यादातर वर्कर्स दिहाड़ी मजदूरी पर काम करते हैं. बेटरप्‍लेस के सीओओ सौरभ टंडन ने कहा कि लेबर की किल्‍लत के चलते कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में मजदूरी बढ़ी है. कंपन‍ियां तेजी से अपनी लंबित परियोजनाओं को पूरा करना चाहती हैं.

टॉप एग्‍जीक्‍यूटिव्‍ज के अनुसार, कुशल कामगारों की भारी किल्‍लत है. कारण है कि महामारी के बाद बड़ी संख्‍या में मजदूर अपने-अपने घरों से वापस नहीं लौटे हैं. रियल एस्‍टेट डेवलपर हीरानंदानी ग्रुप के एमडी निरंजन हीरानंदानी ने कहा कि हम बाहर से कुशल कारीगरों को लाने की कोशिश कर रहे हैं. ये ज्‍यादा मजदूरी की मांग करते हैं. इससे कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में औसत मजदूरी बढ़ी है. कुशल श्रमिकों की कमी सिर्फ रियल एस्‍टेट की समस्‍या नहीं है, बल्कि यह दिक्‍कत हर सेक्‍टर की है. बहुत कम लोगों के पास काम की कुशलता होती है.

इसे भी पढ़ें : सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍टों के बिल्‍डर केईसी इंटरनेशनल के सीईओ विमल केजरीवाल ने कहा कि फिटर और कारपेंटर जैसे कुशल कामगारों की मजदूरी 10-20 फीसदी बढ़ गई है. काम ज्‍यादा है. लंबित परियोजनाओं को पूरा करने का दबाव है. सभी साइटों पर पूरी क्षमता के साथ काम हो रहा है.

इंडस्‍ट्री के जानकार कहते हैं कि मध्‍यम और छोटे संस्‍थान जिनमें लॉकडाउन की शुरुआत में वर्कर्स को रोक पाने की क्षमता नहीं थी, उन्‍हें लेबरों को मंगाने में ज्‍यादा खर्च करना पड़ रहा है. कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर की बड़ी कंपनियों ने खाने-पीने और रहने की व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराकर अपने वर्कर्स को बनाए रखा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

द‍िहाड़ी मजदूरीमजदूरी में इजाफान्‍यूनतम द‍िहाड़ीकंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टरलेबरों की किल्‍लत

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read

सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) विदेशी बाजारों में तेजी के बीच दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में मंगलवार को सरसों, सोयाबीन, बिनौला और सीपीओ सहित विभिन्न खाद्य तेल-तिलहन कीमतों में सुधार आया। मूंगफली सहित बाकी तेल-तिलहनों के भाव अपरिवर्तित रहे। बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशों में तेल-तिलहनों के भाव मजबूत होने से यहां इनके दाम में मजबूती आई। सूत्रों ने कहा कि शुल्क घटाने का फायदा किसानों, उपभोक्ताओं को मिलता नहीं दिख रहा, इसका फायदा केवल विदेशी कंपनियों को ही मिलता है। सूत्रों ने कहा कि कुछ आयातक विदेशों से कम आयात शुल्क वाले कच्चे पामतेल (सीपीओ) में पामोलीन मिलाकर मंगाने केआपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.एसीसी का सितंबर तिमाही का शुद्ध लाभ 24 प्रतिशत बढ़कर 450 करोड़ रुपये पर

देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) देश के ताप बिजली संयंत्रों में कोयला भंडार की स्थिति सुधर रही है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, खानों से दूर स्थित ऐसी बिजली परियोजनाएं जिनके पास चार दिन से कम (सुपर क्रिटिकल स्टॉक) का कोयला भंडार है, की संख्या सोमवार को घटकर 58 पर आ गई है। एक सप्ताह पहले ऐसे बिजली संयंत्रों की संख्या 69 थी। केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) के कोयला भंडार पर ताजा आंकड़ों के अनुसार, चार दिन से कम के कोयला भंडार वाली परियोजनाओं की संख्या 18 अक्टूबर को घटकर 58 रह गई। 11 अक्टूबर को चार दिन से कम भंडारये 5 टिप्‍स करियर में आगे बढ़ने में करेंगी मदद

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) ऑनलाइन वाहन बुकिंग सुविधा देने वाले मंच ओला ने कंपनी का पुनर्गठन किया है और अपने कुछ वरिष्ठ अधिकारियों की भूमिकाओं का विस्तार किया है। कंपनी ने वाहन कारोबार को मजबूत बनाने तथा नये अवसरों का लाभ उठाने के प्रयास के तहत ये कदम उठाये हैं। ओला के मुख्य वित्त अधिकारी एस सौरभ और मुख्य परिचालन अधिकारी गौरव पोरवाल कंपनी छोड़ रहे हैं। ओला के चेयरमैन और समूह सीईओ (मुख्य कार्यपालक अधिकारी) भाविश अग्रवाल ने अपने कर्मचारियों को ई-मेल के जरिये बदलाव के बारे में सूचना दी है। उन्होंने ई-मेल में लिखा है, ‘‘पिछलेरोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के 'हायरिंग आउटलुक सर्वे' के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर आशावान लग रहे हैं.सोने में 256 रुपये की तेजी, चांदी में 188 रुपये का उछाल



Relevant reports:डेज़ इन चेरोकी कैसीनो
Relevant reports:हैप्पी हैलोवीन किसान
Relevant reports:शासन सार्वजनिक प्रभार
Relevant reports:रम्मी वेरिएंट लिस्ट
Relevant reports:lovebet 288 क्रिकेट
Relevant reports:खेल से सम्बंधित शब्द
Relevant reports:तीन पत्ती प्रो
Relevant reports:खेलो पर जुआ whatsapp
Relevant reports:मेसन वी लवबेट
Relevant reports:ऑनलाइन स्लॉट डचलैंड
Relevant reports:कैसिनो प्राइड व्हिस्की
Relevant reports:वाई स्पोर्ट्स केप टाउन कैटलॉग
Relevant reports:लॉटरी डे मटका
Relevant reports:लियोवेगास लाइव लाठी
Relevant reports:पबजी के लिए सर्वश्रेष्ठ पांच अक्षर के नाम
Relevant reports:बेटा विवाह के गीत
Relevant reports:lovebet 100 यूरो बोनस
Relevant reports:क्रिकेट सट्टेबाज पहचान
Relevant reports:स्पोर्ट्स गक क़ुएस्तिओन्स
Relevant reports:स्लॉट रानी
Relevant reports:फुटबॉल के नियम
Relevant reports:स्लॉट 24
Relevant reports:परिमच यूट्यूब
Relevant reports:lovebet जर्सी की कीमत
Relevant reports:स्लॉट मशीन भुगतान
Relevant reports:स्टेटस खाटू श्याम
Relevant reports:फल स्लॉट मल्टीप्लेयर

【font:large in Small
प्रतिलिपि अधिकार: दक्षिण न्यूज नेटवर्कगुआनडोंग आईसीपी तैयार 05070829 website identification code 4400000131
Sponsor: नान्फांग न्यूज़र नेटवर्क co sponsor: Guangdong Provincial Economic and Information Technology Commission contractor: Nanfang news network
1024 is recommended × Browser with 768 resolution above IE7.0