लूडो फैंसी

लूडो फैंसी

time:2021-10-20 03:33:55 वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें? Views:4591

ऑनलाइन बैकारेट कहां खेलें लूडो फैंसी 10cric बोनस,betway सत्यापन,लेवेगास नकली है या असली,lovebet ऐप डाउनलोड,lovebet lovebet,lovebet स्वागत प्रस्ताव,लॉटरी जीतने वाली संख्या,baccarat cres,बैकारेट सिम्युलेटर,टेलीग्राम पर बेटिंग चैनल,कैसीनो 4 अक्षर शब्द,कैसीनो सैन मैनुअल,क्लासिक रम्मी एपीके डाउनलोड,क्रिकेट जीके प्रश्न 2020,डीएच पोकर ऐप,यूरोपीय कप सेमीफाइनल,फुटबॉल जे लीग टेबल,उत्पत्ति कैसीनो बेवर्टुंग,एचडी पोकर,आईपीएल बॉल की कीमत 2021,जैकपॉट लॉटरी टिकट,लाइव लाठी यूरोपीय संघ,लाइव रूले भविष्यवक्ता,लॉटरी टिकट कैसे खरीदे,एमवीपीफन88,ऑनलाइन कैसीनो ojo,ऑनलाइन पोकर सट्टेबाजी,पी स्लॉट एमके२ गोल्फ,पोकर डीलक्स,पेशेवर फुटबॉल लॉटरी,शाही तिजोरी,रमी ऑनलाइन गेम,स्लॉट मशीन पृष्ठभूमि,स्लॉट ज्यूरिख हवाई अड्डा,कैपिटल वन एरिना में स्पोर्ट्सबुक,टेक्सास होल्डम डीलर,खेल पृष्ठ,सबसे प्रतिष्ठित बोर्ड गेम कौन से हैं?,विश्व गेमिंग उद्योग,इलेक्ट्रॉनिक खेल english,कैसीनो के खेल in marathi,गोंडो का साहसिक कार्य,जोकर लाई लाई,फुटबॉल निविया,बेटा टोली,लॉटरी औरंगाबाद,स्पोर्ट्स नाम .वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें?

आप जो एसेट क्‍लास चुनते हैं, वह उस लक्ष्‍य पर निर्भर करता है जिसके लिए आप निवेश कर रहे हैं.
वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अपनी बचत को सही एसेट क्लास में निवेश करना जरूरी है. इन लक्ष्‍यों में बच्‍चों की शिक्षा, घर खरीदना, रिटायरमेंट इत्‍यादि शामिल हैं. लंबी अवधि में एसेट बनाने में दो एसेट क्‍लास - इक्विटी और डेट अहम भूमिका निभाते हैं. हालांकि, आप पूछें कि अपने लक्ष्‍यों को जल्‍दी से पाने के लिए इक्विटी और डेट फंड में से बेहतर कौन है तो जवाब शायद आसान नहीं होगा. सच तो यह है कि इन दोनों का कॉम्बिनेशन और सही इस्तेमाल लक्ष्‍यों को पाने में मदद करेगा.

आप जो एसेट क्‍लास चुनते हैं, वह उस लक्ष्‍य पर निर्भर करता है जिसके लिए आप निवेश कर रहे हैं. यह फैसला आपकी उम्र, जोखिम लेने की क्षमता और बाजार की स्थितियों से भी तय होता है.

इसे भी पढ़ें : बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

अगर आप युवा (20 के पड़ाव में) हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करना चाहते हैं तो आपका निवेश इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा होना चाहिए. इक्विटी म्‍यूचुअल फंड अपने एसेट का 65 फीसदी इक्विटी या अन्‍य संबंधित प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं. लंबी अवधि में इक्विटी में अन्‍य एसेट क्‍लास के मुकाबले बेहतर रिटर्न पैदा करने की क्षमता होती है. साथ ही जब आप लंबी अवधि जैसे 10 साल या इससे ज्‍यादा के लिए इक्विटी में निवेश करते हैं तो अस्थिरता को जोखिम भी घटता है. ऐसे में 20 के पड़ाव में जो लोग हैं, उन्‍हें अपनी बचत का 80 फीसदी इक्विटी फंड में सिप के जरिये निवेश करना चाहिए अगर वे अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं.

लेकिन, आप 50 के पड़ाव में हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं तो आप इक्विटी में इतना भारी-भरकम निवेश नहीं कर सकते हैं. उस स्थिति में कोई अपनी बचत का 25 फीसदी से 40 फीसदी इक्विटी में निवेश कर सकता है. यह उनकी जोखिम लेने की क्षमता पर निर्भर करता है.

रिटायरमेंट के बाद भी इक्विटी म्‍यूचुअल फंडों में कुछ पैसा लगाए रहना चाहिए. यह महंगाई के असर को कम करता है. चूंकि एफडी और डेट प्रोडक्‍टों पर मौजूदा कम ब्‍याज दर के माहौल में रिटर्न घटा है. ऐसे में इक्विटी का कुछ निवेश इसकी भरपाई कर सकता है.

इसे भी पढ़ें : यूलिप और म्यूचुअल फंड में इन 5 बड़े अंतरों को जान लें, होगा फायदा

अगर आइडिया पूंजी की सुरक्षा है न कि ज्‍यादा रिटर्न तो डेट फंड सही विकल्‍प हैं. डेट फंडों में अस्थिरता कम होती है. हालांकि, रिटर्न कम होता है. डेट फंड कैटेगरी के भीतर भी अलग-अलग अस्थिरता और रिस्‍क प्रोफाइल वाले फंड होते हैं. लॉन्‍ग टर्म डेट फंड मुख्‍य रूप से लंबी अवधि के सरकारी बॉन्‍डों में निवेश करते हैं. कॉरपोरेट बॉन्ड फंड अर्थव्यवस्था में ब्‍याज दर के फ्लक्‍चुएशन को लेकर बहुत संवेदनशील होते हैं.

हालांकि, शॉर्ट-टर्म डेट फंड ब्‍याज दर के फ्लक्चुएशन को लेकर कम संवेदनशील होते हैं. कारण है कि ये छोटी अवधि के डेट इंस्‍ट्रूमेंट जैसे ट्रेजरी बिल, कमर्शियल पेपर इत्यादि में निवेश करते हैं. इस तरह के फंड उन लक्ष्‍यों के लिए मुफीद होते हैं जो एक से तीन साल दूर हैं. वहीं, इमर्जेंसी फंड बनाने जैसे बहुत छोटी अवधि के लक्ष्‍यों के लिए लिक्विड फंड या ओवरनाइट फंड उपयुक्‍त विकल्‍प हैं.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

डेट फंडइक्विटी फंडरिटायरमेंटएसेट क्‍लासवित्‍तीय लक्ष्‍य

ETPrime stories of the day

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts
Under the lens

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts

10 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read
Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.
Pharma

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.

9 mins read

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.Patna-Delhi Festival Special Train: पटना और दिल्ली के बीच 3 दिन चलेगी ये सुपरफास्ट त्यौहार स्पेशल ट्रेन, यहां जानिए इसका पूरा टाइम टेबल

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने मंगलवार को कहा कि उसने अपने बहुउद्देश्यीय वाहन (एमपीवी) इनोवा क्रिस्टा का सीमित संस्करण पेश किया है, जिसकी शोरूम कीमत 17.18 लाख रुपये से 20.35 लाख रुपये के बीच है। कार के पेट्रोल संस्करण की कीमत 17.18 लाख रुपये से 18.59 लाख रुपये के बीच है जबकि डीजल संस्करण की कीमत 18.99 लाख रुपये से 20.35 लाख रुपये के बीच है। यह सीमित संस्करण मॉडल मल्टी टेरेन मॉनिटर, हेड अप डिस्प्ले, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, वायरलेस चार्जर, डोर एज लाइटिंग और एयर आयनाइजर जैसी कई विशेषताओं के साथ पेश किया गयाफ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.टोयोटा किर्लोस्कर ने इनोवा क्रिस्टा का सीमित संस्करण उतारा, कीमत 17.18 लाख रुपये से शुरू

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने मंगलवार को कहा कि उसने अपने बहुउद्देश्यीय वाहन (एमपीवी) इनोवा क्रिस्टा का सीमित संस्करण पेश किया है, जिसकी शोरूम कीमत 17.18 लाख रुपये से 20.35 लाख रुपये के बीच है। कार के पेट्रोल संस्करण की कीमत 17.18 लाख रुपये से 18.59 लाख रुपये के बीच है जबकि डीजल संस्करण की कीमत 18.99 लाख रुपये से 20.35 लाख रुपये के बीच है। यह सीमित संस्करण मॉडल मल्टी टेरेन मॉनिटर, हेड अप डिस्प्ले, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, वायरलेस चार्जर, डोर एज लाइटिंग और एयर आयनाइजर जैसी कई विशेषताओं के साथ पेश किया गयाहम सीनियर सिटीजन के लिए निवेश के पांच ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे उनकी मेहनत की कमाई पर अच्छी नियमित आय आती रहे.सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet 1xगेम बोनस

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) अंतराष्ट्रीय बाजार में बहुमूल्य धातुओं की कीमतों में उछाल के बीच राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोना 256 रुपये की तेजी के साथ 46,580 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। इससे पिछले कारोबारी सत्र में सोना 46,324 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी की कीमत भी 188 रुपये की तेजी के साथ 62,328 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई। पिछले कारोबारी सत्र में यह 62,140 रुपये प्रति किलो के भाव पर बंद हुई थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना तेजी दर्शाता 1,782 डॉलर प्रति औंस

यूरोपीय कप भविष्यवाणियां

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

रूले जेम्स बांड रणनीति

भोपाल, 19 अक्टूबर (भाषा) मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल ने मंगलवार को वित्त वर्ष 2021-22 के लिये घरेलू एवं कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत दरों में 20,500 करोड़ रूपये से अधिक की सब्सिडी देने का फैसला किया है। मध्य प्रदेश के गृह एवं संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया, ‘‘मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता मे मंत्रिमंडल की मंगलवार को वर्चुअल बैठक हुई। बैठक में वित्त वर्ष 2021-22 के लिये घरेलू एवं कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत दरों में 20,500 करोड़ रूपये से अधिक की सब्सिडी देने का निर्णय लिया गया।’’

188bet सहयोगी

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने मंगलवार को कहा कि उसने अपने बहुउद्देश्यीय वाहन (एमपीवी) इनोवा क्रिस्टा का सीमित संस्करण पेश किया है, जिसकी शोरूम कीमत 17.18 लाख रुपये से 20.35 लाख रुपये के बीच है। कार के पेट्रोल संस्करण की कीमत 17.18 लाख रुपये से 18.59 लाख रुपये के बीच है जबकि डीजल संस्करण की कीमत 18.99 लाख रुपये से 20.35 लाख रुपये के बीच है। यह सीमित संस्करण मॉडल मल्टी टेरेन मॉनिटर, हेड अप डिस्प्ले, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, वायरलेस चार्जर, डोर एज लाइटिंग और एयर आयनाइजर जैसी कई विशेषताओं के साथ पेश किया गया

लॉटरी हारने वाले

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने मंगलवार को कहा कि सरकार प्रौद्योगिकी क्षेत्र में भारत को एक महत्वपूर्ण देश बनाने के लिए पंचवर्षीय रणनीतिक योजना लाने पर विचार कर रही है। मंत्रालय के आधिकारिक बयान के अनुसार मंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय निजी क्षेत्र के साथ भागीदारी करेगा। यह भागीदार केवल उनके लिये व्यापार बढ़ाने की मांग तक सीमित नहीं होगी बल्कि क्वांटम कंप्यूटिंग, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, साइबर सुरक्षा और सेमीकंडक्टर जैसे भविष्य की प्रौद्योगिकी विकास के लिये होगा।’’ उन्होंने उद्योग मंडल सीआईआई (भारतीय उद्योग परिसंघ) के प्रौद्योगिकी पर आयोजित सम्मेलन में

संबंधित जानकारी
लाइव लाठी यूट्यूब

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) विदेशी बाजारों में तेजी के बीच दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में मंगलवार को सरसों, सोयाबीन, बिनौला और सीपीओ सहित विभिन्न खाद्य तेल-तिलहन कीमतों में सुधार आया। मूंगफली सहित बाकी तेल-तिलहनों के भाव अपरिवर्तित रहे। बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशों में तेल-तिलहनों के भाव मजबूत होने से यहां इनके दाम में मजबूती आई। सूत्रों ने कहा कि शुल्क घटाने का फायदा किसानों, उपभोक्ताओं को मिलता नहीं दिख रहा, इसका फायदा केवल विदेशी कंपनियों को ही मिलता है। सूत्रों ने कहा कि कुछ आयातक विदेशों से कम आयात शुल्क वाले कच्चे पामतेल (सीपीओ) में पामोलीन मिलाकर मंगाने के

गरम जानकारी
कैसिनोडेज गुरु

नयी दिल्ली, 19 अक्टूबर (भाषा) इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने मंगलवार को कहा कि सरकार प्रौद्योगिकी क्षेत्र में भारत को एक महत्वपूर्ण देश बनाने के लिए पंचवर्षीय रणनीतिक योजना लाने पर विचार कर रही है। मंत्रालय के आधिकारिक बयान के अनुसार मंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय निजी क्षेत्र के साथ भागीदारी करेगा। यह भागीदार केवल उनके लिये व्यापार बढ़ाने की मांग तक सीमित नहीं होगी बल्कि क्वांटम कंप्यूटिंग, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, साइबर सुरक्षा और सेमीकंडक्टर जैसे भविष्य की प्रौद्योगिकी विकास के लिये होगा।’’ उन्होंने उद्योग मंडल सीआईआई (भारतीय उद्योग परिसंघ) के प्रौद्योगिकी पर आयोजित सम्मेलन में