लाइव रूले भविष्यवाणी

लाइव रूले भविष्यवाणी

time:2021-10-21 11:10:08 लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी? Views:4591

पांच बेसबॉल प्लेऑफ़ में सर्वश्रेष्ठ लाइव रूले भविष्यवाणी 188bet बैक्सार,casumo नेट वर्थ,leovegas याहू फाइनेंस,lovebet जमा करने का समय,2 गोल से अधिक की lovebet,lovebet.com जाम्बिया,एयू फ़ुटबॉल फ़ॉट डे ला सरफ़ेस डे रिपेरेशन,बैकारेट गेम ट्रायल,बैकारेट जीतता है और हारता है,सट्टेबाजी प्रश्नोत्तरी,कैसीनो डैडी,कैसीनो याकी,कॉम स्पोर्ट्स कार्ड,तमिल में क्रिकेट समाचार,एस्पोर्ट्स बैकग्राउंड,क्रिकेट की किताब फैनचोन,फुटबॉल रिजर्व Net,जीएच क्रिकेट,विश्व कप फ़ुटबॉल स्कोर की गणना कैसे करें,आईपीएल शुरू,जल्दी ३डी,लाइव कैसीनो कनाडा,लॉटरी 6/5/21,लूडो अखाड़ा शाही राजा,नेटवर्क टाइम लॉटरी एजेंट,ऑनलाइन मछली पकड़ने का खेल,ऑनलाइन पोकर निजी टेबल,पैरिमैच नेटबैंकिंग निकासी,पोकर लांचर,रील स्लॉट क्यूआर कोड,नौ का नियम,रम्मी ज़िंगप्ले,स्लॉट मशीन प्ले,स्पोर्ट्स औ पुसेस ब्लेनविले,स्पोर्ट्सबुक संचालन विश्लेषक वेतन,टेक्सास होल्डम प्रश्नोत्तरी,ट्राई शतरंज बोर्ड,जमींदार कहाँ खेल रहा है कुंवारा,यमका एस्पोर्ट्स,ऑनलाइन गेम जियो,क्रिकेट mahiti marathi,गोवा तापमान,तीन पत्ती ऐप डाउनलोड,बकरा चिकन,बेताब फिल्म,लॉटरी हिमाचल प्रदेश, .लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी?

अपने पोर्टफोलियो में इस एसेट को जोड़ते समय कुछ बातों का ध्यान रखने की जरूरत है
रुद्र 20 साल के हैं. वह एक कॉलेज में फाइनेंस के छात्र हैं. एक साल से वह इक्विटी और फिक्‍स्‍ड एसेट में निवेश कर रहे हैं. उन्‍हें दूसरे एसेट क्लास की भी तलाश है. क्‍या उन्‍हें क्रिप्‍टोकरेंसी के बारे में विचार करना चाहिए? अगर हां तो वह इस दिशा में कैसे बढ़ सकते हैं? लंबी अवधि में पैसा बनाने के लिए उन्‍हें क्‍या करना चाहिए?

आइए, जानते हैं कि एक्‍सपर्ट उन्‍हें क्‍या सलाह दे रहे हैं.

पीपीएफएएस म्यूचुअल फंड में सीएफपी और हेड-प्रोडक्‍ट्स जयंत आर पई कहते हैं कि यह बहुत अच्‍छा हैं कि रुद्र ने काफी कम उम्र से पैसा बनाने की तरफ कदम बढ़ाए हैं. वैसे तो हाल में क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में बहुत सफल जरिया रहा है. लेकिन, अपने पोर्टफोलियो में इस एसेट को जोड़ते समय दो बातों का ध्यान रखने की जरूरत है :

इसे भी पढ़ें : म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

- प्रमुख एसेट क्लास की तुलना में क्रिप्‍टोकरेंसी में मूल्यों में अस्थिरता बहुत ज्यादा होती है. क्‍या आपके पास इस तरह के उतार-चढ़ाव को बर्दाश्त करने की क्षमता है. क्‍या रुद्र आर्थिक रूप से उतना सक्षम हैं.

इसे भी पढ़ें : क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

- भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं. अगर भविष्य में कोई प्रतिकूल फैसला लिया जाता है तो रुद्र एक खराब लिक्विडिटी वाले एसेट में फंस जाएंगे. अच्‍छा होगा कि वह इक्विटी और फिक्‍स्‍ड इनकम में अपने निवेश को बनाकर रखें. कारण है कि इनके भविष्य को लेकर किसी तरह का असमंजस नहीं है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीट्रेडिंगएसेट क्‍लासभारतीय नियामकपोर्टफोलियो

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) दुनिया के तीसरे सबसे बड़े ऊर्जा उपभोक्ता देश भारत ने बुधवार को आगाह करते हुए कहा कि तेल की ऊंची कीमतें शुरुआती और नाजुक वैश्विक आर्थिक पुनरुद्धार पर प्रतिकूल असर डालेंगी। भारत ने सऊदी अरब और ओपेक (तेल निर्यातक देशों के संगठन) के अन्य सदस्य देशों से सस्ती और भरोसेमंद आपूर्ति की दिशा में काम करने को कहा। साथ ही भारत ने दीर्घकालीन आपूर्ति अनुबंधों का विचार रखा। इससे भरोसेमंद और स्थिर कीमत व्यवस्था सुनिश्चित हो सकेगी। पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सेरा वीक के ‘इंडिया एनर्जी फोरम’ मेंइंदौर में सोयाबीन रिफाइंड के भाव में वृद्धि

सामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.भारत ने कतर से 2015 के एलएनजी कार्गो की अब आपूर्ति मांगी

मुंबई, 20 अक्टूबर (भाषा) कच्चे तेल की वैश्चिक कीमतों में गिरावट तथा बाजार में जोखिम उठाने की क्षमता बढ़ने के साथ अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बुधवार को रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 47 पैसे के उछाल के साथ 74.88 प्रति डॉलर के लगभग दो सप्ताह के उच्चस्तर पर बंद हुआ। बाजार सूत्रों ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार में गिरावट के कारण रुपये पर कुछ दबाव रहा। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया मजबूती का रुख लिए 75.10 रुपये पर खुला तथा कारोबार के दौरान यह 74.88 रुपये तक सुधर गया, जो सात अक्टूबर के बाद कानयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) वोडाफोन आइडिया ने बुधवार को कहा कि उसके निदेशक मंडल ने दूरसंचार क्षेत्र के लिए राहत पैकेज के तहत सरकार द्वारा स्पेक्ट्रम भुगतान पर दी जा रही चार साल की मोहलत का लाभ उठाने को मंजूरी दे दी है। दूरसंचार कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि दूरसंचार विभाग की अधिसूचना में दिए गए अन्य विकल्पों पर निदेशक मंडल द्वारा निर्धारित समयसीमा के भीतर विचार किया जाएगा। वोडाफोन आइडिया ने कहा, ‘‘... हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि कंपनीब्रिटेन ने फेसबुक पर 6.94 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
कोमो जोगर या लवबेट

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.

स्लॉट 21

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

कैसीनो 08087

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

कालेब रश फिशिंग गाइड

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को कहा कि भारत को किसी पर हमले के लिये नहीं बल्कि स्वयं की रक्षा के लिये वैश्विक शक्ति बनने की जरूरत है। उद्योग मंडल फिक्की के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारत एक विस्तारवादी शक्ति नहीं है और छोटे पड़ोसियों पर हमला करने का इरादा नहीं रखता है। गडकरी ने कहा, ‘‘हमें भारत को वैश्विक शक्ति बनाने की जरूरत है...हमें शक्तिशाली बनने की जरूरत है अैर यह किसी पर हमले के लिये नहीं है।’’ मंत्री ने कहा कि भारत रक्षा

रम्मी 2 इक्का राजा

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी